जानिए क्या है जोड़ों में दर्द की समस्या का आयुर्वेदिक इलाज ?

जोड़ों में दर्द की समस्या से कैसे पाए निजात ?
AyurvedicHindiJoints Pain

जानिए क्या है जोड़ों में दर्द की समस्या का आयुर्वेदिक इलाज ?

  • July 27, 2023

  • 300 Views

आज के समय की बात करें तो जोड़ों में दर्द बजुर्गो के साथ युवाओं में भी देखने को मिल रहा वही ये दर्द की समस्या से कैसे लोग अपने आप को इसके खतरे से बाहर निकाल सकते है वो भी आयुर्वेदिक दवाई और उसके उपचार की मदद से, तो आप भी जोड़ों में दर्द की समस्या से परेशान है तो इससे बचाव के लिए आर्टिकल के साथ अंत तक बने रहें ;

क्या है जोड़ो में दर्द की समस्या ?

  • जोड़ों का दर्द होना एक सामान्य स्थिति है, जो शरीर में एक या एक से अधिक जोड़ों को प्रभावित करती है। आमतौर पर, जोड़ों के दर्द में घुटने का दर्द, कंधे या गर्दन का दर्द, कोहनी और कुल्हे का दर्द शामिल होता है। 
  • जोड़ो में दर्द की अवधी और तीव्रता उसके अन्तर्निहित कारणों पर निर्भर करती है। जोड़ों का दर्द आमतौर अपने आप ठीक हो जाता है, लेकिन ये दर्द अगर ज्यादा समय तक बना रहें तो इसके लिए इलाज का सहारा लेना पड़ सकता है। 

जोड़ों में दर्द की समस्या के बारे में और विस्तार से जानने के लिए आपको बेस्ट आयुर्वेदिक डॉक्टर का चयन करना चाहिए।

जोड़ों में दर्द के लक्षण क्या है ?

  • अगर आपके जोड़ और उसके आसपास का क्षेत्र सूजा हुआ, लाल, कोमल या स्पर्श करने के दौरान गर्म है।
  • आपका दर्द 3 दिनों से अधिक समय से जारी है। 
  • गंभीर चोट आई है। 
  • विकृत जोड़। 
  • सूजे हुए जोड़। 
  • जोड़ जो पूरी तरह से स्थिर है। 
  • गंभीर जोड़ों का दर्द। 

 

जोड़ों में दर्द की समस्या के लिए बेहतरीन आयुर्वेदिक इलाज !

  • अगर आप भी जोड़ों में दर्द की समस्या से परेशान है तो इससे बचाव के लिए आपको हर्बल ऑयल से बनाए गए हर्बल पेस्ट द्वारा जोड़ों की मसाज को करवाना चाहिए। वहीं ऐसा करवाने से आपको जोड़ों के दर्द से तो आराम मिलेगा ही और साथ में आप इंफ्लेमेशन के दर्द से भी राहत पा सकते है। इसके अलावा अगर आप हर्बल ऑयल का मशाज करवाना चाहते है, तो इसके लिए आपको बेस्ट आयुर्वेदिक क्लिनिक के संपर्क में आना चाहिए।
  • जोड़ों में दर्द की समस्या से आपको पंचकर्म भी राहत दिलवाता है। वहीं अपने दर्द की गंभीरता के आधार पर आपको इस तकनीक का प्रयोग हफ्ते से महीने तक करना चाहिए। इस प्रक्रिया में अभ्यांग, जनू बस्ती, लेप, स्वेद, विरेचन, बस्ती और अग्निकर्म की आवश्यकता होती है। 
  • आयुर्वेदिक मशाज के अलावा आपको आयुर्वेदिक पेन किलर्स जैसे अलसी, अखरोट, आंवला, हल्दी, तुलसी और अदरक का प्रयोग करना चाहिए। इनमें एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते है जो आपके घुटनों के आस-पास के दर्द को कम करने में मदद करते है और आपको काफी राहत प्रदान करते है। वहीं यह जोड़ों की सूजन कम करने में भी लाभदाई होते है। 
  • अगर आप जोड़ों के या मसल्स के आस-पास के दर्द को कम करना चाहते है, तो आपको सरसों के तेल को थोड़ा गर्म कर लेना है और इसमें एक चुटकी हल्दी मिला दें और फिर प्रभावित क्षेत्र पर इस तेल की मसाज करें। जिससे आपको काफी आराम मिलेगा।

जोड़ों के इलाज के लिए बेहतरीन आयुर्वेदिक हॉस्पिटल !

अगर आप उपरोक्त जोड़ों में दर्द की समस्या से काफी परेशान है, तो आप कैसे इससे खुद का बचाव कर सकते है इसके बारे में हम आपको उपरोक्त बता ही चुके है। वही जोड़ों में दर्द के लक्षण ज्यादा गंभीर नज़र आए तो इसके लिए आप दीप आयुर्वेदा हॉस्पिटल का चयन भी कर सकते है। 

सारांश :

जोड़ों का दर्द जहा लोगों को चलने में असमर्थ बनाता है वही इसके दर्द की समस्या से कैसे हम खुद का बचाव कर सकते है, इसके बारे में हम उपरोक्त बता चुके है, इसके अलावा उपरोक्त उपायों को तो आपने अपनाना ही है और साथ में आपको इस बात का ध्यान भी रखना है की आपको अपने खाने-पीने जैसी हर तरह की चीजों का खास ध्यान रखना है, तभी जाकर आप इस समस्या से खुद का बचाव कर सकते है।